Sunday, 3 July 2016

बालों में मेहंदी कब और कैसे लगाएं


Add caption




शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी, स्त्रियों में मुख्य रूप से रक्तल्पता, कोई बीमारी जो लंबे समय तक रही हो, कुछ ऐलोपैथी दवाइयां भी असमय सफेदी का कारण हो सकती हैं।

प्रायः लोग असमय सफेदी की स्थिति में बालों में मेहंदी लगाते हैं। मेहंदी कौन-सी लें एवं इसमें कौन सी जड़ी-बूटियां डालें, इस बारे में कोई जानकारी नहीं होती। मेहंदी का मिश्रण यदि संतुलित न हो तो बालों में रुखापन आ सकता है अथवा सफेदी बढ़ भी सकती है।

अक्सर लोग विभिन्न जड़ी बूटियां उचित मात्रा का ध्यान रखे बिना अंदाज में डाल देते हैं। यह भी याद रखना जरूरी है कि जो जड़ी-बूटियां बाजार से ली जा रही हैं, वे अधिक पुरानी न हों। जड़ी-बूटियों की भी एक्सपायरी डेट होती है लेकिन अभी हमारे देश में इस दिशा में अधिक शोध नहीं हुए हैं। बाजार में किराने की दुकानों में जड़ी-बूटियां कब से हैं इसकी कोई जानकारी नहीं मिलती। इसी तरह घर में भी अधिक समय तक इन्हें नहीं रखा जा सकता। अक्सर बाज़ार में मिलने वाली काली मेंहदी को लोग सुरक्षित मान लेते हैं। यह हमेशा सुरक्षित नहीं होती क्योंकि निर्माता अक्सर इसमें घातक रसायन मिलाते हैं।

टिप्स :


यदि आप बालों में मेजेंटा रंग देखना चाहते हैं, तो गुड़हल के फूल क्रश करके डालें।

सर्दियों में मेहंदी लगाएं, तो मेहंदी पेस्ट में कुछ लौंग डाल दें। यह ठंड से बचाएंगी।

ठंड से ज्यादा परेशानी है, तो आप मेहंदी में तेल, चाय पानी या कॉफी जरूर मिक्स करें। सूखा आंवला, शलगम जूस, दालचीनी, अखरोट, कॉफी कुछ ऐसे तत्व हैं, जिसे आप मेहंदी में मिक्स कर सकते हैं।

बालों में मेहंदी लगाने से पहले उसमें एक कपूर और एक चम्मच मेथी का पावडर मिला लें। ये बालों को असमय सफेद होने से बचाएंगे।

दो चम्मच संतरे के रस में दो चम्मच मेहंदी पाउडर मिलाएं और शैंपू करने के बाद बालों पर लगाएं तथा दस मिनट बाद धो दें।

बालों को रंगने के लिए अगर मेहंदी का इस्तेमाल कर रही हैं तो उसमें दो चम्मच चाय का पानी मिला लें। बालों का रंग निखर जाएगा।

अगर आपको मेहंदी का इस्तेमाल करने के बाद भी बाल भूरे नहीं काले ही चाहिए तो काली मेहंदी लगाएं या कोई भी हेयर डाई लगाने के बाद मेहंदी के पानी का इस्तेमाल बतौर कंडीशनर करें।

अगर आप लंबी बीमारी से उठी हैं और बाल बेतहाशा झड़ रहे हैं तो मेहंदी को गर्म पानी में घोल कर हर दो-तीन दिन में बालों की जड़ों में लगाएं। बालों का झड़ना कम हो जाएगा।

झट से गोरा बनाने वाले टिप्‍स


पपाया फेस पैक


पपीते से आप अपने चेहरे का रंग काफी हद तक निखार सकती हैं। पपीते को थोड़ी सी दही के साथ मिक्स कर के चेहरे के लिये फेयरनेस पैक बनाया जा सकता है।

नेमन फेस पैक


नींबू अक्सर ब्लीचिंग के लिये प्रयोग किया जाता है। इसे लगाने से भी चेहरे का रंग निखरता है। इसे सीधे लगाएं या फिर किसी पैक में मिला कर लगाएं। भारतीय त्वचा के लिये ओटमील काफी अच्छा है। इस फेस पैक को चेहरे पर लगाइये और फिर देखिये फरक।

आलू


आलू को छील कर घिस लें और चेहरे पर लगाएं। इससे चेहरे पर मुंहासों के दाग भी गायब हो जाएंगे और चेहरा भी दमक जाएगा।

टमाटर


टमाटर के पल्प को लगाने से तुरंत ही फरक देखने को मिलता है। इसे थोडे़ से नींबू के रस के साथ आजमाइये। यह संवेदनशील त्वचा के लिये भी काफी अच्छा है।

बादाम


कुछ बादाम को रातभर के लिये पानी में भिगो दें। फिर उसे छील कर पीस लें और उसे शहद के साथ मिक्स करें। अब इसे चेरहे पर लगा लें और कुछ देर के बाद चेहरे को धो लें।

बेसन फेस पैक


अगर आपको हफ्तेभर में गोरा बनना है तो बेसन, हल्दी और मलाई का फेस पैक लगाइये।

मिंट फेस पैक


यह त्वचा को ठंडक पहुंचाता है। पुदीने की पत्तियों का फेस पैक लगाने से पोर्स खुलते हैं, जिससे रंग निखरता है।

बनाना फेस पैक


थोड़े से केले को मैश कर के उसमें थोड़ी सी मलाई मिलाएं और चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं। इसे 20 मिनट के लिये पानी से धो लें।

चंदन पावडर फेस पैक


इसे किसी भी प्रकार की स्किन पर प्रयोग किया जा सकता है। चेहरा गोरा करने के लिये इसमें रोज वॉटर मिला कर मुंह पर लगाएं।

अंडे का फेस मास्क


अंडे में काफी सारा प्रोटीन होता है। इससे चेहरे का टेक्सचर ठीक होता है।

गाजर फेस पैक


1 गाजर को पीस कर पेस्ट बना लें। फिर उसमें ताजी दही मिक्स करें और फिर इसे चेहरे पर लगा लें। इससे आपके चेहरे का रंग धीरे धीरे साफ होना शुरु हो जाएगा।

नारियल फेस पैक


यह एक बेस्ट चीज है जिसे आप अपने चेहरे के लिये इस्तमाल कर सकती हैं। इससे तैयार किया हुआ फेयरनेस पैक लगाने से चेहरा टोन और मुलायम होता है।